Kitchentips

क्यों नहीं रखना चाहिए फ्रिज में गूथा हुआ आटा

क्यों नहीं रखना चाहिए फ्रिज में गूथा हुआ आटा

वो जमाना कब का बीत चुका है, जब लोग ताज़ी सब्जियां रोजाना लेकर आते थे, और इन्हीं ताज़ी सब्जियों से पूरे परिवार का खाना बना कर खाते थे, पर आजकल तो मानो लोगों के लिए ऐसा करना संभव ही नहीं, क्योंकि अब हमारे पास फ्रिज है.

आज जब हर एक घर में फ्रिज मौजूद है,इसकी मदद से लोग अतिरिक्त भोजन को कुछ अधिक समय तक सहेजकर रख सकते हैं, क्योंकि फ्रिज आपके भोजन के खराब होकर सड़ने की प्रक्रिया को कुछ दिनों के लिए धीमा कर देता है, जिससे आपका खाना अधिक समय तक ताज़ा रहे,

फल सब्जियों से लेकर अन्य खाद्य पदार्थों को लोग फ्रिज में तो रखते ही हैं, आमतौर पर भारतीय महिलाओं की ये आदत होती है, कि वे एक ही वक़्त में 1-2 दिन के लिए आटा गूँथ लेती हैं, एक समय के लिए जितने आटे की जरूरत है उसकी रोटियां बना कर बचे हुए गूथे हुए आटे को फ्रिज में रख लेती है, लेकिन कुछ खाध पदार्थ ऐसे भी है जो जिन्हे हमें फ्रिज में बिलकुल नहीं रखना चाहिए, फलों सब्जियों को भी हमेशा ताजा ही खाए, आज हम जिस खाद्य पदार्थ के बारे में बात कर रहे वो है गूथा हुआ आटा,जिसे फ्रिज में रखने से बचना चाहिए.

आइए जानते हैं, इस लेख के जरिये कि क्यों हमे फ्रिज में गूँथा हुआ आटा नहीं रखना चाहिए.

1. पोषक तत्वों की कमी
जब भी आप ताजे आटे की रोटी खाएंगे और बासी आटे की रोटी खाएंगे तो आपको स्वाद में फर्क के साथ-साथ पोषक तत्वों में भी अंतर रहेगा, फ्रिज में रखे हुए आटे की रोटी खाने से आपके शरीर में पोषक तत्वों की कमी होने लगती है और ये कमी आगे चलकर आपको बीमार बनाने के लिए काफी है,इसका बच्चों से लेकर बड़ों सबके सेहत पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है, इसलिए ताजे आटे की रोटी ही खाना फायदेमंद होता है.

2. गूथा हुआ आटा फ्रिज में नहीं रखने के वैज्ञानिक कारण

विशेषज्ञों का मनना है की आटा गूंथने के बाद उसे तुरंत इस्तेमाल कर लेना चाहिए क्योंकि आटा पानी के संपर्क में आने के बाद उसमें कई ऐसे रसायनिक बदलाव आते हैं, जो सेहत के लिए हानिकारक माने जाते हैं, इसके बाद आटे को गूंथकर फ्रीज में रखने से फ्रीज की हानिकारक किरणें उसके संपर्क में आती हैं और उस आटे को और खराब करती हैं, जिससे जब दुबारा जब आप उस आटे की रोटी बनते है तो उससे कई तरह की बीमारियां होने की संभावना बढ़ जाती है, कई लोग इस बात को जानते हुए भी नजरांदाज करते है,

ज्यादातर न्यूट्रिशिनिस्ट लोगों को हमेशा ताजे आटे से बनी रोटी ही खाने की सलाह देते हैं,क्योंकि आप तभी इसके पौष्टिक गुणों का लाभ प्राप्त कर सकते हैं, जब तक आटा ताजा है, लेकिन जब आप आटा गूथकर फ्रिज में 6 से 7 घंटे के लिए रख देते है, तो उसमें रासायनिक पदार्थ बनने लगते है जो स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचाते है, ऐसे लोगों में जागरूप्ता जरूरी है, अपने और अपने परिवार वालों के स्वास्थ्य के साथ न खेलें.

3. धार्मिक और अन्य मान्यताएं

लोगों में ऐसी मान्यता होती है, की घर में गूथे हुए आटे तो रख कर छोड़ देने पर भूत और प्रेत जैसी बुरी और नकारात्मक शक्तियों को आपके घर की ओर आकर्षित करती है,

इसकी वजह से घर और परिवार में अशांति, कलह, और कलेश की समस्या की स्थिति बनी रहती है, जिन घरों में यह रोज होता है वहा किसी न किसी तरह की रोग और आलस्य हमेशा बना रहता है, इसलिए जब हम पर किसी भी तरह की मजबूरी न हो तो हमे बासी गूथे हुए आटे के इस्तेमाल से बचना चाहिए.

इस विषय पर आयुर्वेद क्या बोलता है.

आयुर्वेद के अनुसार आटा उतना ही गूँथिए जितना आपको उस समय जरूरत है,यानि कि उसे स्टोर मत करिए, फ्रिज में या कहीं ओर.

बासी आटे से बनी रोटी का न तो स्वाद अच्छा होता है, न ही वो रोटियाँ पौष्टिक होती हैं.

4. स्वास्थ्य को होने वाली परेशानियां

बासी आटे की रोटी खाने से आपको कई तरह की परेशानी हो सकती है, जैसे गैस और कब्ज, पाचन क्रिया पर असर, खाने का स्वाद बदल जाना इत्यादि.

अगर आपकी आदत बन चुकी है तो ऐसी गलती न करे, क्योंकि गर्मियों में ज्यादा देर तक रखे हुए गूथे हुए आटे में बैक्टीरिया बन ने लग जाते है, जिसकी वजह से फूड प्वाउजिंग हो सकती है. इतना ही नहीं आटे में लगे फुफुंद की वजह से आप फंगल इन्फेक्शन का भी शिकार हो सकते है.

हमारी सलाह –

इस विषय पर अलग-अलग लोगों की राय एक दूसरे से मेल नहीं खाती, अगर आप अपने और अपने परिवार के स्वास्थ्य को लेकर चिंतित है तो ऐसा करना छोड़ दीजिए,

हमारी सलाह तो यही है कि आप उतना ही आटा गूँथिए जितना आप उस समय इस्तेमाल करने वाले हैं, ये आपके ही स्वास्थ्य के लिए अच्छा रहेगा.

LEAVE A RESPONSE

error: Content is protected !!