Desserts

Ghevar | 4 चम्मच घी से एकदम हलवाई स्टाइल पर्फेक्ट जालीदार घेवर बिना किसी मोल्ड के बनाऐ आसान विधि से

घेवर राजस्थान की पारंपरिक मिठाई है, और ये पूरे देश में काफी प्रसिद्ध है, जो कि मैदे से बनाई जाती है. अपने स्वाद से सबको लुभाने वाले घेवर वैसे तो बाजार में मिल ही जाते हैं लेकिन आप इसे घर पर भी आसानी से बना सकती हैं, ये गोल आकार वाला घेवर जब आप घर पर बनायेंगे सब को बहुत पसंद आएगा, और आप आसानी से इसे बिना झंझट बिना कोई सांचे के बना कर तैयार कर सकती है,
घेवर घर पर सामान्य भगोनी या घर की कढ़ाई में बहुत अच्छी तरह से बनाया जा सकता है.

इसे खास तौर पर रक्षा बंधन और सावन के महीने में बनाया जाता है, पर इसके लिए अब आपको सावन या राखी का इंतजार करने की जरूरत नहीं है, जी हां, इसे आप एक घंटे में घर में भी बना सकते हैं, मैंने बिलकुल हलवाई स्टाइल में और परफेक्ट घेवर की पूरी रेसिपी कई टिप्स के साथ शेयर किया है, ताकि हर कोई इसे घर पर बना कर इसका मजा ले, आइए जानें घेवर बनाने की विधि

घेवर बनाने के लिए आपको चाहिए

* मैदा All purpose flour – 250 ग्राम 2 cups

* घी Ghee -50 ग्राम 1/4 कप

* दूध मिल्क – 50 ग्राम 1/4 कप

* पानी water – 800 ग्राम 4 कप

* घी या तेल Ghee – तलने के लिए

चाशनी बनाने के लिए

चीनी sugar – 400 ग्राम 2 कप

पानी water – 200 ग्राम 1 कप

घेवर बनाने की विधि How to prepare ghevar at Home

* स्टेप 1 – मैदा छान कर किसी बर्तन में निकाल लीजिये, और घी को किसी बड़े बर्तन में डाल लीजिये और बर्फ डालकर हाथ से या व्हिस्कर से अच्छे से फैटिये, फैंटते फैंटते घी की जब क्रीम जैसी बन जाय तब बर्फ के टुकड़े निकाल कर हटा दीजिये और घी को एक दम चिकनी क्रीम बनने तक फैट लीजिये.

* स्टेप 2 – घी को अच्छे सा फेटने के बाद अब इसमें मैदा थोड़ी थोड़ी डालते जाइये और फैटते जाइये, गाढ़ा होने पर दूध मिला दीजिये और थोड़ा थोड़ा पानी डाल कर खूब फैटिये, और साथ में मैदा डालते जाइये, सारी मैदा डालकर अच्छी तरह मिलाइये और फैटिये और चिकना गाढ़ा बैटर बना लीजिये, अब बैटर में थोड़ा थोड़ा पानी डालिये और घोल को खूब फैटिये.

* स्टेप 3 – फैटने वक्त ध्यान रखे कि घोल में कोई गुठली न रहे और घोल एकदम चिकना हो जाय, इसलिए घी फेटने के बाद मैदा, दूध और जरूरत के अनुसार पानी आराम से डाले एक साथ पूरा न डाले, घेवर बनाने के लिये घोल तैयार है. घोल की कन्सिस्टेन्सी एकदम पतली हो कि चमचे से घोल गिराने पर पतली धार से गिरे.

* स्टेप -4 अब एक कढ़ाई या भगोने में करीब आधा से कम ऊचाई तक घी भर कर गरम कीजिये, ध्यान रखे जो आप कढ़ाई ले वो छोटा हो और गोलाकार हो वैसे भगोने का इस्तेमाल करे, घी अच्छी तरह गरम होना चाहिए तेज फ्लेम पर ताकि मैदा की कोई भी बूंद घी में गिरे तो वह तुरन्त ऊपर उठकर तैरने लगे.

* स्टेप -5 मैदा का घोल किसी चमचे में भर कर बहुत ही पतली धार से इस गरम घी में डालिये, घोल डालने पर घी से उठे झाग ऊपर दिखाई देने लगते, दूसरा चम्मच घोल डालने के लिए आधे से एक मिनट रुकिए घी के ऊपर झाग खत्म होने दीजिए.

* स्टेप -6 अब फिर से दूसरा चम्मच घोल भरकर बिलकुल पतली धार से घोल घी में डालिए, आप देखेंगे की घी फिर से झाग से भर जाता है, इसी तरह रूक रूक कर घोल डालिए, एक चम्मच या पतली डंडी से बीच से घोल को हटाकर थोड़ी जगह भी बनाते रहे, बीच में घोल को इकठ्ठा न होने दे, जैसे आपने घेवर का शेप देखा होगा बाजार में हमें बिलकुल वैसा ही बनाना है.

* स्टेप – 7 आप जितना बड़ा घेवर बनाना चाहते है उसके हिसाब से उतना घोल आप भगोने में डालिए, मान लीजिए आपने एक लीटर वाला भगोना लिया है घेवर बनाने के लिए तो करीब 10 बड़े चम्मच में घेवर बन जाता है, घोल को हमेशा भगोने के बीच में डालें, ताकि घोल जब डाले तो वो नीचे तले मे जाए और तैर कर ऊपर आ जाए, और यह पहली परत के ऊपर पहुंच कर नीचे परत बनाता जायेगा और इस तरह घेवर जालीदार भी बनेगा.

* स्टेप -8 जब घेवर नीचे से हल्का ब्राउन दिखने लगे इसके किनारों को चाकू से हल्का खोल दीजिए इस से ये तेल में डूब कर ऊपर से भी अच्छे से सिक जाएगा, जब ये गोल्डन ब्राउन हो जाए तो घेवर बाहर निकालने के लिए किसी लकड़ी की पतली डंडी स्टील की पतली करछी से बाहर निकाल लीजिए, एक प्लेट पर घेवर को निकाले और थाली को हल्का तिरछा कर दे ताकि अतिरिक्त घी बाहर निकल जाएं,

सारे घेवर तल कर आप इसी तरह तैयार कर के थाली में एक के ऊपर एक रख लीजिए, और अब घेवर को मीठा करने लिए 2 तार की चासनी बना कर तैयार कर ले.

* चाशनी बनाने के लिए एक बर्तन में चीनी और पानी रख कर उबाल आने तक पकाएं, जब तक चीनी अच्छे से घुल न जाएं चीनी घुल जाए तो 5-6 मिनिट पकाएं फिर चासनी की कुछ बूंद को प्लेट पर निकाल कर उंगलियों से चेक करे की 2 तार बन रही या नहीं

* अगर 2 तार बन रही तो चाशनी तैयार है, इसका स्वाद और बढ़ाने के लिए आप इसमें केसर के धागे और थोड़ी सी इलाइची पाउडर डाल सकते है.

* चाशनी तैयार हो जाने पर उसे पूरी तरह ठंडा होने दीजिए
जब ठंडी हो जाए चाशनी तो एक प्लेट पर एक घेवर लीजिए सुर इसके उपर से चाशनी डालिए चारों तरफ से, चाशनी घेवर को मीठा करती हुई नीचे निकल जाती है, आपको घेवर कितना मीठा करना है इस हिसाब से चाशनी डालते जाइए ऐसे ही सारे घेवर पर चाशनी डाल कर मीठा कर लीजिए और इसके ऊपर कटे हुए काजू, पिस्ता बादाम डाल कर सर्व करे.

* आप घेवर को और शाही स्वाद देने के लिए इसके ऊपर रबड़ी और मेवे लगाकर और स्वादिष्ट बना सकती है.

* रबड़ी बना लीजिये

1 लीटर फुल क्रीम दूध को किसी भारी तले के बर्तन में डालकर उबलने रख दीजिये, उबाल आने पर गैस फ्लेम धीमी कर दीजिये और दूध को उबलते रहने दीजिये, थोड़ी थोड़ी देर में चमचे से चलाते अवश्य रहें ताकि दूध तले में न लगे, दूध उबलते उबलते गाड़ा हो जाय यानी अपनी मात्रा का 1/3 रह जाय तब गैस फ्लेम बन्द कर दीजिये, लगभग 30-40 मिनिट पकाने के बाद दूध की रबड़ी घेवर पर डालने के लिये तैयार है, इस रबड़ी में 2 छोटी चम्मच चीनी डालकर हल्की सी मीठी कर दीजिये, और इसे ठंडा होने दीजिए

* रबड़ी जब ठंडी हो जाए तो घेवर के ऊपर एक परत दूध की रबड़ी की बिछाइये और ऊपर से कतरे हुये मेवे डाल दीजिये अब आप इस घेवर को खाइये और बताइये कि घेवर कितना स्वादिष्ट बना है.

आप मेरी इस रेसिपी से घेवर के साथ साथ रबड़ी भी बना सकते है, और इसे मिट्टी के कुल्लढ में सर्व कर सकते है, बहुत पसंद आयेगी आप सभी को कैसी लगी आपको ये शाही घेवर की रेसिपी हमे जरूर बना कर बताएं, ऐसी और स्वादिष्ट रेसिपीज के लिए हमारे पेज इंडिया का तड़का से जुड़े रहे.

video-Ekta Recipes

LEAVE A RESPONSE

error: Content is protected !!