Kitchentips

गमले में 100 नींबू सिर्फ 3 फीट के पौधे में, इस ट्रिक से इतने नींबू आएंगे कि हैरान रह जाएंंगे

नींबू पानी पीना है, तो अब बाजार से नहीं बल्कि घर पर ही आसानी से गमले में रसीले निम्बू उगा सकते है.

” बीज से निम्बू का पौधा कैसे लगाये ” के बारे में हम आपको और सारी जानकारी दे रहे है, इसके अलावा नींबू के सभी प्रकार से लगाए जाने वाले तरीके और नींबू के पेड़ की देखभाल कैसे करे, इसकी पूरी जानकारी आपको इस लेख में मिलेगी, मुझे उम्मीद है आपको ये लेख पढ़कर अच्छा लगेगा, और आपके लिए मददगार साबित होगा.

नींबू के स्वास्थ्य वर्धक फल है, इसके अंदर भरपूर मात्रा में भरपूर मात्रा में विटमिन सी, विटामिन ए और विटामिन बी भी शामिल है।

नींबू के अंदर स्वास्थ्य को अच्छा बनाने वाले निम्न गुण पाए जाते है, जिनमे लोहा, ताम्बा, क्लोरीन, सोडियम, पोटेशियम, और प्रोटीन आदि शामिल है, यह सभी तत्व शरीर को ऊर्जा प्रदान करते है. जिससे शरीर संक्रमण से सुरक्षित रहता है.इसके अंदर पाए जाने वाला विटामिन सी हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है.

भारतीय घरों में नींबू पानी के अलावा कई अन्य डिश में भी नींबू का नियमित तौर पर इस्तेमाल किया जाता है, लेकिन, हर बार नींबू खरीदने के लिए बाज़ार जाना भी ठीक नहीं है, कई नींबू ऐसे भी होते हैं जो केमिकल के द्वारा उगाए जाते हैं, जो हेल्थ के लिए हानिकारक भी होते हैं, ऐसे में आप बाज़ार न जाकर घर पर गमले में आसानी से रसीले नींबू उगा सकती हैं, कुछ मेहनत और सेहत से भरपूर आप आसानी से नींबू उगा सकती हैं और वो भी केमिकल फ्री,और जब आपको घर के पेड़ से ताजे रसीले नींबू मिल रहे हो जो ऑर्गेनिक हो क्यों न इसे उगाया जाए.

1. नींबू के पौधे लगाने का सही समय

वैसे तो आप नींबू के पौधे किसी भी समय में लगा सकते है, अगर हम पौधे सही समय और सही मौसम में लगाते है तो उसके ऊपर अच्छी मात्रा में फल आते है, नींबू के पौधे को लगाने का सही समय जून से जुलाई और जनवरी से मार्च का होता है. अगर आप नींबू को ग्राफ्टिंग या फिर कलम के द्वारा उगाते है, तो इसके लिए बरसात का सबसे उचित समय माना जाता है.

2. नींबू की उन्नत किस्म

* मीठा नींबू – ये नींबू ग्राफ्टिंग के द्वारा उगाया जाता है, इस पर अन्य पौधे की अपेक्षा ज्यादा फल आते है.

* बारामासी नींबू – ये पौधा एक साल में 2 बार फल का उत्पादन करता है.

*. कागजी नींबू – कागजी नींबू को देसी नींबू भी कहा जाता है, यह अन्य नींबू के फलों की अपेक्षा छोटा होता है, इसके अंदर सबसे अधिक मात्रा में रस होता है.

3. नींबू के बीज से नींबू का पेड़ गमले में कैसे लगाएं.

* सबसे पहले आपको बाजार से लाए हुए नींबू से बीज निकलने है.

* इसके बाद हमें चाहिए उपजाऊ मिट्टी, जिसमे वार्मिकॉमपोस्ट, नीम खली और सामान्य मिट्टी उपजाऊ मानी जाती हैं.

* एक 12-14 इंच का गमला, जिसकी जरूरत पौधा बड़ा होने के बाद पड़ेगी, शुरू में आप छोटे गमले में भी पौधा लगा सकते है.

4. नींबू का पौधा लगाने की विधि

* एक नींबू के सावधानी से बीज निकाले ध्यान रहे किसी भी बीज पर चाकू का निशान न आए.

* जब भी बीज ले नींबू का तो एक साथ 10-12 बीज ले, क्योंकि इनमे से आधे बीज फंगस लग जाने के कारण खराब हो जाते है.

* बीज निकालने के बाद तैयार की गई मिट्टी को गमले में भरे, हमेशा ऐसे गमले का चुनाव करें जिसमें छेद हो.

* गमले की मिट्टी में किसी भी लकड़ी की मदद से एक से दो इंच गहरे गड्ढे कर दे, फिर बीजों को गड्ढे में डाल कर ऊपर से मिट्टी से ढक दे, किसी स्प्रे की सहायता से नींबू के बीजों को पानी दे.

* जब तक पौधा बीज से अंकुरित होकर निकलने न लगे, इसकी मिट्टी में नमी बनाए रखे.

* लगभग 3 महीने बाद आपका पौधा बड़े गमले में लगाने के लिए तैयार हो जाएगा.

5. नींबू के पौधे को गमले में कैसे शिफ्ट करे.

* जब हम कोई पौधा बीज द्वारा उगाते है, तो उसे सिडलिंग ट्रे या छोटे गमले में उगाया जाता है, जब पौधा बीज द्वारा तैयार हो जाता है, तो उसे किसी बड़े गमले में लगाया जाता है, इस विधि को री पोटिंग या रिपॉट कहा जाता है.

* नींबू के पौधे को बड़े गमले में शिफ्ट करने ले लिए आपको एक उपजाऊ मिट्टी का मिश्रण तैयार करना है, इसके अंदर वर्मी कंपोस्ट और सामान्य मिट्टी को अच्छी तरह मिलाएं, और बड़े गमले में भर दें.

* मिट्टी को गमले में भरने के बाद नींबू का पौधा लगा दीजिए, और इसके अंदर पानी डाल कर 1 हफ्ते के लिए ऐसी जगह पर रखे जहां सूरज की सीधी धूप न आती हो.

* जब पौधा बड़ा होने लगे तो आप सीधी धूप वाली जगह पर रख सकते है.

6. अब जो दूसरा तरीका है निम्बू का पौधा लगाने का है वो है कलम से तो आइए जानते है नींबू की कलम से पौधा कैसे लगाते है.

* सबसे पहले 4-5 नींबू की कलम को तैयार कर ले, ये 5-6 इंच की हो कटिंग से काटने के बाद इसकी सभी पत्तियां छीलकर कर अलग कर लें और कलम को नीचे से 45° पर एक कट लगाना है.

* इसके बाद आपको एक डिस्पोजल ग्लास या छोटा गमला लेना है इस गमले में रतीली मिट्टी या घर बनाने वाली मिट्टी को भर ले, और नींबू की कटिंग यानी कमल को गमले में लगा कर अच्छी तरह से पानी डाल दे.

* अब गमले को किसी छाया वाली जगह पर रखे जबतक कटिंग से नई शाखाएं निकलना शुरू नहीं हो जाती, तब तक गमले में नमी बनाए रखें, 1-2 महीने में कलम की जड़े निकलना शुरू हो जाएगी.

7. नींबू का कलम बांधने का तरीका

* यह विधि बहुत आसान है, बस आपको कुछ बातो का ध्यान रखना है, इस विधि की ग्राफ्टिंग भी कहा जाता है.

* नींबू की कलम बांधने के लिए आपके पास नींबू का बीज से उगाया हुआ पौधा होना चाहिए, जब वह पौधा एक इंच मोटा हो जाए तो उसे बीच से काट कर उसमे अंदर कलम को बांधना चाहिए.

* इसके लिए आपको एक बड़े नींबू के पौधे की कलम लेनी है, उस कलम की सभी पत्तियों को हटाकर, उसके निचे के हिस्से को इस तरह से काटें, की वह पौधे में लगे चीरे पर ठीक तरह से फिक्स हो जाएँ,कलम को पौधे के तने में फसाकर ऊपर से उस पर पॉलीथिन को अच्छी तरह से लपेट देना चाहिए। जिससे की उसके अंदर बहार से पानी और हवा ना जा सके.

* अगर आप इस विधि द्वारा कलम को बांधते है, तो लगभग एक से दो महीने में ही आपका पौधा अच्छा हो जायेगा.

8. नींबू के पेड़ की देखभाल कैसे करे.

* नींबू के पौधे की देखभाल करने के लिए सबसे पहले आपको इसके बारे में यह जानना बहुत जरुरी होता है, की नींबू के पेड़ पर फूल और फल किस महीने में आते है, अगर आपके घर में अम्बिया बहार नींबू का पेड़ है, तो उसके ऊपर जनवरी से फरवरी के महीने में फूल आते है, और जून से जुलाई के महीने में नींबू लगना शुरू हो जाते है.
नींबू की दूसरी प्रजाति हस्त बहार होती है जिस पर अक्टूबर से नवम्बर के महीनो में फूल आते है, इन फूलों से मार्च और अप्रैल में फल आते है.
आप इन्ही बातों को ध्यान में रखकर अपने नींबू के पौधे की देखभाल करनी चाहिए.

* जिस महीने में नींबू के फूल आते है, उस से लगभग 15 दिन पहले से आपको नींबू के पौधे को पानी नहीं देना चाहिए, इसकी जड़ों को पूरी तरह से सुखा दे, इस से नींबू के अंदर ज्यादा मात्रा में फूल आते है.

* नींबू के पौधे को में दिसंबर से जनवरी और मई से जून छोड़ कर बाकी सारे महीने खाद दे सकते है.

* अगर पौधे पर फूल आना शुरू हो जाए, तो प्रत्येक सप्ताह में एक बार पानी देना चाहिए, इस से नींबू का आकार बढ़ता है.

* अगर आपके नींबू के पेड़ में फूल नहीं आते या फिर फूल गिर जाते है, तो इसका मतलब यह भी हो सकता है, की आपके पौधे का परागण नहीं हो रहा है, इसके लिए आपको अपने पौधे को ऐसी जगह पर रखना चाहिए, जहाँ पर मधुमखियां, तितलियाँ आदि रहती हो, अगर आपके घर ऐसी कोई जगह नहीं है जहां मधुमक्खी तितलियां नहीं आती जाती तो आप पौधे के ऊपर मेकअप ब्रश को घुमा सकती है, इस से भी फूलों की संख्या बढ़ जाती है.

* जब भी पौधे पर किसी तरह की कीट पतंगे लगना शुरू होते है, तो इस से पौधे को बचाने के लिए नीम के तेल में पानी मिला कर उसका स्प्रे करें, इस से पौधे स्वस्थ और उपजाऊ रहते है.

यह पोस्ट नींबू का पेड़ कैसे लगाए उस पर आधारित है, अगर किसी का सवाल यह है कि कागजी नींबू कैसे लगाएं तो बता दे सभी तरह के नींबू लगाने की यही विधि होती है, इस पोस्ट के जरिए मैने आसान तरीके से और आसन शब्दों में आपको सही जानकारी देने की कोशिश की है, आप अपने सवाल पूछ सकते है ये जानकारी अच्छी लगी हो तो सबको जरूर बताएं, और आप नीचे दिए वीडियो को भी देख कर समझ सकते है.

धन्यवाद.

video-Bonsai and Gardening Zone

LEAVE A RESPONSE

error: Content is protected !!