Kitchentips Recipes

तड़का लगाने के सही तरीके, जानिए इन 6 देसी तरीको के बारे में

भारतीय भोजन में तड़के का मतलब है टेंपरिंग, मतलब इसे सजाना, सुगंध देना और तड़के से अच्छा स्वाद और जायका लाना होता है.
देश भर में तड़के के लिए घी और मसाले लोकप्रिय है, और अलग अलग जगह पर कई तरीके से रेसिपी के हिसाब से तड़का लगाया जाता है इन सब में दाल तड़का बहुत प्रसिद्ध है.

तड़का देश भर में अलग अलग नाम से जाना जाता है जैसे बघार, छौंक, थालीपु, वगराने आदि,
हालांकि इसे किसी भी भारतीय रेस्टोरेंट के मेनू में तड़के के रूप में उल्लेख किया जाता है.

तड़का हमारे खाने को स्वादिष्ट बनाने के साथ साथ काफी सेहतमंद भी होता है. यह आपको शरीर के विभिन्न अंगों में अक्सर होने वाले दर्द से भी निजात दिलाता है। क्योंकि इसमें खड़े मसालों, जैसे लाल मिर्च, काली मिर्च आदि का प्रयोग होता है जो विटामिन्स देने के साथ ही दर्द से राहत दिलाती हैं। मोटापे को रोने में भी यह फायदेमंद है।

तड़के में जीरा, राई का प्रयोग आपके पाचन संबधी समस्याओं से छुटकारा दिलाने के साथ ही मांसपेशियों और हड्डियों के दर्द से राहत देने में सहायक है, साथ ही कढ़ीपत्ते का तड़के बेहतरीन स्वाद के साथ-साथ यह आपको कई विटामिन्स देता है और आपके पाचन तंत्र व दिल को स्वस्थ्य रखने में मददगार है.

तड़के में हल्दी का प्रयोग आपको इंफेक्शन से बचाता है और एंटीबायोटिक तत्व, प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाकर आपके स्वास्थ्य की रक्षा करती है, वहीं सर्दी जुकाम से भी आपको बचाने में यह मदद करती है.

तो जब स्वाद के साथ साथ इसके इतने फायदे है तो हमें खाने में तड़का जरूर लगाना चाहिए, तो मैं स्मृति आज आपसे तड़के लगाने के सही समय और इसे लगाने के तरीके साथ ही रीजनल तड़का में क्या क्या सामग्री यूज होती है इसे कैसे लगाया जाता है उसकी विधि शेयर कर रही हूं.

1. ये है तड़के के लिए इस्तेमाल होने वाली सामग्री

* राई, जीरा, हींग, लाल मिर्च, मेथी दाना, चना दाल, उरद दाल, लहसुन, अदरक , धनिया के बीज, कलौंजी, मूंगफली, बादाम, काजू, दालचीनी, तेजपत्ता, काली मिर्च,टमाटर, प्याज, अजवाइन आदि
तड़का लगाने के लिए घी, सरसों का तेल या नारियल के तेल का यूज होता है, इन सब का इस्तेमाल रेसिपी के हिसाब से किया जाता है.

2. ये है तड़के का सही समय

कई लोगो को दुविधा होती है की तड़का लगाने का सही समय या कौन सी रेसिपी से कैसा तड़का लगाए, तो जवाब है की ये निर्भर करता है कुछ रेसिपी में शुरुआत में टेंपरिंग की जरूरत होती है पर कुछ में सर्व करने के वक्त.

यदि तड़का कुकिंग के शुरुआत में लगता है, जैसे सब्जी वगेरह तो इसे कढ़ाई में लगाए, अगर आखिरी में तड़का लगा रहे है तो तड़का पैन का इस्तेमाल करे.

3. रीजनल तरीके के बारे मे जाने किस किस तरह का तड़का आप अपने खाने में लगा सकते है, तो अगर आप अपने खाने में तड़का लगा कर स्वाद और सेहत बढ़ाना चाहते है तो ये 6 तरीके जरूर आजमाए.

* साउथ इंडियन तड़का

राई, करी पत्ता, हींग, लाल मिर्च, चना दाल ये सामग्री साउथ इंडियन रेसिपीज जैसे नारियल की चटनी, मूंगफली की चटनी, कारा चटनी में की जाती है, इसे आमतौर पर नारियल के तेल या घी में बघारा जाता है. जो स्वाद और सुगंध के साथ खाने में भरपूर फ्लेवर देता है.

* पंच फोरन तड़का

पंच फोरन यानी पांच मसाले – सौंफ, राई, अजवाइन, मेथी, कलौंजी
इसे सरसों के तेल के साथ लगाया जाता है. इसका तड़का दाल, सब्जियों और मछली जैसी रेसिपीज में किया जाता है.

* बिना प्याज लहसुन वाला तड़का

उन घरों में जहां प्याज लहसुन ज्यादा नहीं खाते, वहा खाने का सार मसालों से ही आता है, जीरा, सौंफ, हींग और कुछ खड़े मसाले है जो भोजन में थोड़ा और स्वाद जोड़ने में बेहद काम आते है.

* पंजाबी तड़का

पंजाबी तड़का घी, जीरा, हींग, हरी मिर्च, प्याज , टमाटर , अदरक, लहसुन, हरा धनिया पत्ता और कुछ मसाले जैसे चाट मसाला, लाल मिर्च और हल्दी नमक डाल कर लगाया जाता है, जो बेहद स्वादिष्ट और फ्लेवर से भरपूर होता है. इसका तड़का लगाते वक्त ध्यान रखे कि ये जले न इसे आप दाल में लगाए और सिंपल दाल का टेस्ट ढाबे वाली दाल के टेस्ट की तरह हो जाएगा.

* गुजराती तड़का

इसमें अदरक, हींग, हल्दी मिर्ची का पेस्ट डालना आम है, और भोजन के रंग को बढ़ाने के लिए टमाटर का इस्तेमाल करते है. आप इस तड़के को लोकप्रिय गुजराती डाल या सुखी सब्जी बनाने में उपयोग कर सकते है.

* कश्मीरी तड़का

कश्मीरी तड़के मे दाल चीनी, इलाइची, काली मिर्च, तेजपत्ते जैसे गर्म मसाले होते है, ये तड़का खाने में स्वाद और खुशबू के साथ साथ हल्का तीखा पन भी लाता है, इस तड़के को अपनी करी या छोले की सब्जी में इस्तेमाल कर सकते है.

तड़का लगाते समय इस जरूरी बातो का ध्यान रखे.

* मसाले डालने से पहले तेल या घी अच्छे से गरम होने दे मसाले को तेल में डालते ही चटकना चाहिए.

* जल्दी पकने वाली सामग्री आखिरी में डाले जैसे कड़ी पत्ता इसलिए हमेशा इसे राई के फूटने के बाद ही डाले.

* अधिकांश मसाले को चटकने में कुछ हो सेकंड लगते है, इसलिए तड़के के लिए सामग्री पहले से तैयार रखे.

* तड़के में कभी भी नमी न हो ध्यान रहे वरना आग लगने का डर होता है.

* अगर तड़का जल जाए तो उसे फेंक दे वरना आपके डिश का टेस्ट भी खराब हो जाएगा.

* तड़के में अगर आपको हल्दी, लाल मिर्च पाउडर डालना हो तो तेल हल्का ठंडा होने में बाद ही मिलाए वरना ये मसाले गरम तेल में जल जाएंगे.

तो दोस्तो ये थे तड़का लगाने के कुछ खास टिप्स और तरीके जिन्हे आप भी उपयोग में जरूर लाए और आप किस तरह का तड़का लगाना पसंद करते है हम जरूर बताएं.

LEAVE A RESPONSE

error: Content is protected !!